Friday, March 18, 2022

नवसारी जिले में उत्तर भारतीय समाज एवम हिंदू युवा वाहिनी के अग्रणी उद्योगपति श्री अरविन्द सिंह राजपूत द्वारा होली स्नेह सम्मेलन कार्यक्रम संपन्न






नवसारी जिले में उत्तर भारतीय समाज एवम हिंदू युवा वाहिनी के अग्रणी उद्योगपति श्री अरविन्द सिंह राजपूत द्वारा होली स्नेह सम्मेलन कार्यक्रम संपन्न 
नवसारी जिले के सिसोद्रा में हर वर्षों की भांति इस वर्ष भी उत्तर भारतीय समाज एवम् हिंदू युवा वाहिनी के अग्रणी उद्योगपति श्री अरविन्द सिंह राजपूत , श्री हरिमोहन तिवारी गुरु जी , गणेश चतुर्वेदी, सुरेश पांडे,मानसिंह, प्रकाश पाण्डेय, मुकेश सिंह,अजय पाठक, रिंकू सिंह,के के तिवारी, मुन्ना भाई, ,डा.आर. आर.मिश्रा , राहुल सिंह हिन्दू युवा वाहिनी के संमानित कार्यकर्ता, पदाधिकारी, उत्तर भारतीय समाज के सभी समाज के सर्वोच्च एवम कार्यकर्ता आज होली के पवित्र त्योहार पर एक साथ मिलकर बड़े हर्षोल्लास पूर्वक भजन कीर्तन के साथ मनाई। सभी मित्रों ने होली को एक विशिष्ट त्योहार के रुप में पूरे वर्ष के गले शिकवे दूर कर एक दूसरे के गले मिलकर मनाई। पूरा माहौल संगीत मय अंत तक बना रहा। होली वैसे उत्तर भारत में सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। होली के शुभ अवसर पर सभी एक दूसरे से रंग गुलाल लगाया। वैसे वैदिक काल से होली को नये वर्ष के रूप में प्रथम मास  चैत्र हिन्दूओं के पंचांग के अनुसार शुरुआत होने से एक विशिष्ट त्योहार माना जाता है। होलीका माता के दहन में सत्य की जीत प्रहलाद के बच जाने से अधिक प्रभावशाली हो जाता है। वैसे होली मनाने के पीछे सभी क्षेत्रों में अपनी अपनी मान्यताएं हैं। भारत देश कृषि प्रधान देश माना जाता है। और इसी समय नये अनाज आने की शुरुआत होने से होली के त्योहार को एक विशिष्ट स्थान प्राप्त है। भगवान श्री कृष्ण जी के राश रचाने वाले पर्व को भी इसी समय से जोड़ कर देखा जाता है। होली का त्योहार रंगों का त्योहार माना जाता है। इस पवित्र पर्व पर सभी छोटे बड़े एक दूसरे को रंगों एवम गुलाल से रंग देने की परंपरा है। वैसे होली भारत में लगभग सभी धर्मों के लोग एक साथ मिलकर मनाते हैं। दीपावली की तरह होली का एक सर्वश्रेष्ठ महत्वपूर्ण स्थान है। नवसारी जिले में आज होली के इस शुभ अवसर का मजा सभी ने मिलकर मनाई।और पूरा माहौल संगीत मय के साथ बना रहा। 



No comments:

नवसारी शहर में बंदर रोड की हालत गंभीर

नवसारी गुजरात राज्य की सबसे महत्वपूर्ण एवम ऐतिहासिक संस्कारी नगरी के रूप में मानी जाती है। परंतु कुछ वर्षों से इस पर कुछ असामाजिक तत्वों के ...