Sunday, June 30, 2019

नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी आरटीआई के भंवर में बुरी तरह फसे ..? उच्च अधिकारियो ने पल्ला झाडा ? अब “जाये तो जाये कहां” ?

नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी आरटीआई के भंवर में बुरी तरह फसे ..? उच्च अधिकारियो ने पल्ला झाडा ? अब “जाये तो जाये कहां” ?
 नवसारी जिले के सभी मुख्य अधिकारियों को हेड क्वार्टर के पास रहना अनिवार्य ..!

                  नवसारी जिले में आज वर्षों से मानवजीवन के साथ पशु पक्षियो के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड किया जा रहा है । और सरकार ने इसकी जांच के लिये कायदेसर मददनीश कमिश्नर के साथ एक फौज खडी कर हर महीने लाखों रूपये वेतन के साथ राजाशाही सुविधाएं मुहैया करवा रही है । और आज गुजरात सरकार खरेखर एक लंबे कर्ज में होते हुए भी इनके वेतन और सुविधाओ में किसी भी प्रकार की कटौती नही करती । और यहां नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी इसे बपौती समझकर अपने मौज मस्ती में आनंद ले रहे हैं। आज यह सभी को जानना जरूरी होगा कि यह मौज मस्ती के लिये नही है । न ही गुजरात सरकार के पास नोट छापने मशीन है न ही यह पेड पर उगता है । यह सभी इन सभी को मिलने वाला धन जिसे अपना हक समझ बैठे हैं । इसका एक एक रूपया गरीब दलित मजूर किसान आदिवासी अपने खून पसीने और मेहनत मसक्क्त से पैदा करते हैं। और यहां नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी जिनकी कमाई का धन खा रहे हैं उन्ही को अपना पावर बता रहे हैं।

               पर्यावरण मानव अधिकार संस्था में आम जनता की फरियाद की सत्यता जानने के लिये जब एक रूबरू मुलाकात में जानने की कोशिस की तब पता चला कि यह महाशय वर्षों से कभी टाईम पर आते ही नही । और नवसारी जिले में रहना इनके स्वास्थ्य के लिये ठीक नही है । ये अपनी मर्जी के मालिक हैं। इनकी पहुंच काफी उपर तक है । असमाजिक तत्वो के भरोसे किसी को भी धमका दे देते है । कायदे कानून से काम करना इनकी फितरत में नही आती । नेताओ की तरह बोल गये अधिकारी श्री मददनीश कमिश्नर अब अपने ही जाल में फस गये । सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 के मुताविक एक सूचना मागी गयी। नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी श्री जो सूचना देने से छटकबारी करते हुये अपने ही मुख्य अधिकारी गांधीनगर और मददनीश श्रम आयुक्त नवसारी को भेज दिया । और शायद इन्हे पता नही के कोई भी उच्च अधिकारी ऐसे जाल में कभी फसना नही चाहता और यही हुवा कि इन्ही के उच्च अधिकारियो ने अपना पल्ला झाड लिया । और लिखित में इन्हे वापस कर दिया कि यह सूचना सिर्फ और सिर्फ आपके कार्यालय में है। और तत्काल सूचना उपलब्ध करवाई जाय । अब नवसारी जिले के खोराक औषध नियमन तंत्र फुड एंड ड्रग के मुख्य अधिकारी जो कि सरकार के नियम के मुताबिक नवसारी जिले के मुख्य कार्यालय से 3 से 5 किलोमीटर के अंतर मे रहना अनिवार्य है । प्रो-एक्टिव डिस्क्लोझर ओडिट करवाना । लघुत्तम मासिक वेतन के साथ सेवा का अधिकार जैसे कायदे कानून का पालन करना अनिवार्य है । नवसारी जिले में कम से कम महीने में इतनी जांच करना आवश्यक है । कायदे कानून की धज्जियां उडाने वाले अधिकारी श्री अब आरटीआई के भंवर में बुरी तरह फसते हुए नजर आ रहे हैं । अब “जायें तो जायें कहां” जैसी  हालत नजर आ रही है ।


No comments:

Post a Comment

क्या आप अथवा आपका स्वजन असाध्य रोग से पीड़ित हैं ? प्राकृतिक चिकित्सा अपनायें...

प्राकृतिक चिकित्सा क्यों अपनायें ? प्राकृतिक चिकित्सा एक संपूर्ण चिकित्सा पद्धति है जो जड मूड से सभी प्रकार के सामान्...